Categories: Song Lyrics

(Song Lyrics) Jhonkha hawa Ka aaj Bhi… (HDDCS)

Published by

झोंका हवा का आज भी, जुल्फें उड़ाता होगा ना?
तेरा दुपट्टा आज भी तेरे सर से सरकता होगा ना?
बालों में तेरे आज भी फूल कोई सजता होगा ना?

ठंडी हवायें रातों में तुझ को थपकियाँ देती होगी ना?
चाँद की ठंडक ख्वाबों में तुझ को ले के तो जाती होगी ना?
सूरज की किरने सुबह को तेरी नींदे उड़ाती होगी ना?
मेरे ख़यालों में सनम खुद से ही बातें करती होगी ना?
मैं देखता हूँ छूपछूप के तुम को महसूस करती होगी ना?
कागज पे मेरी तस्वीर जैसी कुछ तो बनाती होगी ना?
उलटपलट के देख के उस को जी भर के हसती होगी ना?
हसते हसते आँखें तुम्हारी भर भर आती होगी ना?
मुझ को ढका था धूप में जिस से वो आँचल भिगोती होगी ना?
सावन की रिमझिम मेरा तराना याद दिलाती होगी ना?
एक एक मेरी बातें तुम को याद तो आती होगी ना?
क्या तुम मेरे इन सब सवालों का कुछ तो जवाब दोगी ना???

गीतकार : मेहबूब,
गायक : हरिहरन,
संगीतकार : ईस्माइल दरबार,
चित्रपट : हम दिल दे चुके सनम – १९९९

~aakaasshhh~

शायरी करनी है तो मुहब्बत कर... दिल के जख्म जरूरी है शायरी के लिए...

Leave a Comment

Recent Posts

जो खानदानी रईस हैं वो मिजाज रखते हैं नर्म अपना / शबीना अदीब

ख़ामोश लब हैं झुकी हैं पलकें, दिलों में उल्फ़त नई-नई है,अभी तक़ल्लुफ़ है गुफ़्तगू में,… Read More

4 months ago

वक़्त शायरी | समय शायरी | Waqt Shayari in Hindi – Part 2

वक़्त शायरी | समय शायरी | Waqt Shayari in Hindi - Part 2 (26 से… Read More

6 months ago

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई …

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई जैसे एहसान उतारता है कोई आईना देखकर तसल्ली हुई… Read More

6 months ago

तीरगी चांद के ज़ीने से सहर तक पहुँची – राहत इन्दोरी

तीरगी चांद के ज़ीने से सहर तक पहुँची ज़ुल्फ़ कन्धे से जो सरकी तो कमर… Read More

6 months ago

वक़्त शायरी | समय शायरी | Waqt Shayari in Hindi – Part 1

वक़्त शायरी | समय शायरी | Waqt Shayari in Hindi - Part 1 (1 से… Read More

6 months ago

नोटबंदी/अमरेश गौतम

जमा पूरी रकम को, कालाधन न कहो साहब, गरीबों के एक-एक रुपये का,उसी में हिसाब… Read More

5 years ago